सिने जगत का एक और सितारा टूटा

सिने जगत का एक और सितारा टूटा

बिहार निवासी पारो शैवलिनी की कलम से

भारतीय सिने जगत का एक और सितारा रविवार को टूट गया। मेरी पत्नी सुनयना ने जो इनदिनों मुंबई में बेटी के पास है, फोन पर इस दुःखद घटना की जानकारी दी। सच पूछिये तो मुझे सुशांत की मौत पर दुःख नहीं हुआ बल्कि गुस्सा आया। गुस्सा इस बात का कि वो एक तो बिहार से है, दूसरा अपने नाम के साथ राजपूत लिखता है।
बिहार का राजपूत और इतना कमजोर। अभी मेरी बातचीत सिनेमा के एक उभरते सिंगर सत्येंद्र त्रिपाठी से हो रही थी। उन्होंने बताया कुछ महीने से सुशांत डिप्रेशन में था। भला क्या हो सकती है बात? जितना सोचता हूं, सोच की सुई प्रेम-प्रसंग पर आकर ठहर जाती है। सुशांत- अगर ऐसी ही कोई बात हुई ना तो मैं तो क्या देश का कोई भी युवा तुम्हें माफ नहीं करेगा।ऐसा कैसे कर गये तुम। मात्र 34 की उमर में इतना बड़ा फैसला। ना, बहुत गलत फैसला किया तुमने। तुम्हें लेकर एक ड्रीम प्रोजेक्ट बना रहा था| मैं अतृप्त प्रेम की अंतहीन कहानी पर आधारित एक फ़िल्म ऑलवेज ए ड्रीम पर तुम्हें लेकर काम करना था मुझे। सोचा था, इस महामारी से निजात मिलते ही मुंबई आकर तुम्हें कहानी सुनाऊंगा और तुम्हें जाने की इतनी जल्दी पड़ी थी।
मैं स्तब्ध हूं तुम्हारे इस फैसले से और बहुत नाराज भी। क्योंकि तुमने जो स्टारडम हासिल की थी इसकी वजह से देश के युवाओं का आदर्श बनते जा रहे थे। क्या संदेश दिया है तुमने देश के साथ-साथ बिहार के युवाओं को। छी:

admin

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account