कोरोना संक्रमण : जमुई सदर अस्पताल के चिकित्सक हुए कोरोना पॉजिटिव

कोरोना संक्रमण : जमुई सदर अस्पताल के चिकित्सक हुए कोरोना पॉजिटिव

गुरूवार को चिकित्सक, पूर्व स्वास्थ्स कर्मी सहित पांच हुए कोरोना पॉजिटिव

जमुई संवाददाता। गुरूवार को सदर अस्पताल के एक चिकित्सक और एक पूर्व स्वास्थ्य कर्मी सहित पांच लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। अब लोगों को चिंता सता रही है कि इलाज कराने सदर अस्पताल जाए या फिर कोरोना लेने के लिए। लोग ऊहापोह की स्थिति में है कि अब क्या होगा जब सदर अस्पताल के ही चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मी कोरोना के चपेट में आने लगे है। बहरहाल देखना है कि स्वास्थ्य विभाग इस चुनौती को कैसे लेकर जिले वासियों का इलाज करती है। जानकारी देते हुए स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम सुधांशु नारायण लाल ने बताया कि जमुई में स्थापित ट्रू-नेट मशीन के जांच में एक सदर अस्पताल के चिकित्सक, एक सदर अस्पताल के पूर्व स्वास्थ्य कर्मी जो इन दिनों सदर अस्पताल में कार्य करते है एवं दोनो महिसौड़ी मोहल्ला के और एक सतगाम के समीप भोला नगर मोहल्ला निवासी में कोरोना संक्रमितो की पहचान हुई है। सभी मरीज का ट्रैवल हिस्ट्री खंगालने में स्वास्थ्य विभाग जुट गए हैं। साथ ही चिन्हित लोगों का सैंपल भी लेने का कार्य स्वास्थ्य कर्मी कर रहे है। डीपीएम ने बताया कि जिले में कोरोना मरीज की कुल संख्या 124 हो गई है। वहीं 80 कोरोना पॉजिटिव मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके है। साथ ही आ तक जिले में 3698 लोगों का सैंपल जांच के लिए लिया गया था। जिसमें से 3412 लोगों का रिपोर्ट निगेटिव आया है। वहीं ट्र-नेट मशीन से आ तक 772 संक्रमण लोग का भी जांच किया गया है। डीपीएम नेाताया कि अभी तक जिले के जमुई प्रखंड में सबसे अधिक कोरोना के 42 केश मिले है।
सदर अस्पताल में मचा हड़कंप, स्वास्थ्य कर्मी दिखा परेशान
गुरूवार को सदर अस्पताल के एक चिकित्सक और एक पूर्व स्वास्थ्य कर्मी के कोरोना पॉजिटिव की सूचना केााद सदर अस्पताल के चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों में हड़कंप सा मच गया। सदर अस्पताल परिसर में मौजूद सीएस कार्यालय, एसीएमओ कार्यालय, जिला स्वास्थ्य समिति, डीएस कार्यालय, जमुई पीएचसी, ब्लड बैंक , नवजात देखभाल केंद्र एवं सदर अस्पताल में मौजूद चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों के बीच काफी भय उत्पन्न हो गया है। जब से चिकित्सक और पूर्व स्वास्थ्य कर्मी के कोरोना पॉजिटिव की सूचना मिली तब से सभी लोगों के बीच एक ही चर्चा थी कि अब क्या होगा । जब सदर अस्पताल के चिकित्सक और स्वास्थ्य भी कोरोना के चपेट में आ गए है। लोग एक-दूसरे को शक की नजर से देख रहे है। जुबान से तो कुछ नहीं बोल रहे है लेकिन एक-दूसरे कर्मियों और चिकित्सक एक-दूसरे से दूरी बनाए हुए है ताकि इस महामारी से किसी तरह बच पाएं।
कोरोना पॉजिटिव होने केााद भी देखते रहे मरीज
सदर अस्पताल के चिकित्सक और पूर्व स्वास्थ्य कर्मी में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद भी चिकित्सक गुरूवार को मरीज देखते रहे है। नाम नहीं छापने पर एक कर्मी ने बताया कि बुधवार को उक्त चिकित्सक का डयूटी था। बुधवार को वह दिन भर मरीज को देखे फिर गुरूवार को एक अन्य चिकित्सक की डयूटी थी लेकिन वह अपने डयूटी आवर के कुछ घंटे के बाद पहुंचे, जिस कारण कोरोना पॉजिटिव चिकित्सक मरीज को देखते रहे। बताया जाता है कि जब वह मरीज को देख रहे थे ता उन्हें इस बात की सूचना हो गई थी कि वे कोरोना पॉजिटिव हो चुके है लेकिन वह इस बात को नजर अंदाज करते हुए मरीजों को देखने में व्यस्त थे। वहीं लोग बताते है पूर्व स्वास्थ्य कर्मी जो अभी भी सदर अस्पताल में कार्यरत है। उन्हें भी कोरोना पॉजिटिव की सूचना मिलने के बाद भी वह सदर अस्पताल के ऑपरेशन रूम में कई बार गए है। साथ ही वह आराम से सदर अस्पताल परिसर में घुमते नजर आ रहे है और सभी लोगों से गपशप करने से भी परहेज नहीं कर रहे है। अब अन्य लोगों को इस बात की चिंता सता रहीं है कि ये लोग अब कितने लोगों को प्रभावित करेंगे। अब देखना यह है कि पूर्व स्वास्थ्य कर्मी को और चिकित्सक को विभाग द्वारा किया सलाह दिया जाता है। बहरहाल पूर्व स्वास्थ्य कर्मी सेवानिवृत होने के बाद भी वर्षों से सदर अस्पताल में जमे हुए है। तो क्या इस बार वह अपने अधिकारियों की सलाह मानेंगे या फिर सदर अस्पताल परिसर में लोगों के बीच घुमते और बातचीत करते नजर आएंगे।

जिले में कोरोना संक्रमितो की संख्या बढ़कर हुई 124
अब तक 80 कोरोना पॉजिटिव हो चुके है स्वस्थ

admin

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account