किसी ने सराहा तो किसी ने जतायी निराशा

समाचार

वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा गुरुवार को आम बजट प्रस्तुत किये जाने के बाद स्वास्थ्य सुरक्षा के मामले में जहां आमलोगों को गिफ्ट देने की बात कही जा रही है वहीं इस योजना के तहत पांच लाख रुपये तक का गरीब परिवारों को स्वास्थ्य का सुरक्षा कवच मिलेगा।

कटिहार। लोकसभा में मोदी सरकार का पांचवां बजट प्रस्तुत किये जाने को लेकर शहर के बुद्धिजीवी वर्गों से लेकर व्यवसायियों की नजर विभिन्न टीवी चैनलों पर टिकी रही। लोग आशा लगाकर वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा प्रस्तुत किये जा रहे बजट पर ध्यान लगाये बैठे थे कि व्यवसायियों, बुद्धिजीवियों के अलावा रेल ,शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि सहित विभिन्न आयामों में देश के साथ साथ प्रदेश व कटिहार वासियों को क्या तोहफा मिलता है। एक तरफ वित्तमंत्री द्वारा लोगों को सेहत की सौगात के तहत पांच लाख का स्वास्थ्य बीमा का कवच दिये जाने के बाद कमजोर वर्ग के लोगों को प्रधानमंत्री स्वास्थ्य संरक्षण योजना के तहत पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य कवच प्रदान किये जाने से गरीब तबकों के लोगों में जहां उत्साह देखा गया। वहीं निजी क्षेत्र में निवेश बढ़ने से सम्बंधित इस सेवा के विस्तार और उसके प्रयोग करनेवालों की संख्या बढ़ने के कारण प्रतिस्पर्धा का दौर जारी रहेगा। वहीं बजट में पेट्रोल और डीजल पर मूल उत्पाद शुल्क में दो दो रुपये प्रतिरुपये की कटौती किये जाने से कोई बदलाव का आसार नजर नहीं आया।

खुले पेट्रोल पर मूल उत्पाद शुल्क 6.48 रुपये से घटाकर 4.48 रुपये और डीजल पर 8.33 रुपये से घटाकर 6.33 रुपये किये जाने से बुनियादी ढांचा पर उपकर की बाते बतायी जा रही है। गुरुवार को चेम्बर ऑफ कॉमर्स, व्यवसायी प्रकोष्ट के अलावा शिक्षा क्षेत्र से जुड़े प्रबुद्ध लोग जहां चैनल देखने में व्यस्त नजर आये वहीं प्रतिदिन दो जून की रोटी का जुगाड़ करनेवाले गरीब तबके के लोग रोजगार में व्यस्त दिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.