बोध गया में आनंद की अनुभूति हुयी :लोकसभा अध्यक्ष

समाचार

पटना। लोक सभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन, जो राष्ट्रमंडल संसदीय संघ, भारत क्षेत्र के छठे सम्मेलन में भाग लेने के लिए 16 फरवरी 2018 को पटना पहुंची थी, ने बोध गया में विश्व प्रसिद्ध महाबोधि मंदिर परिसर में प्रार्थना की बोध गया में बोधि वृक्ष के नीचे गौतम बु़द्ध को परम ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। इस ऐतिहासिक तीर्थ स्थल में अपने प्रवास के दौरान, श्रीमती महाजन ने भव्य 80 फीट ऊँची महान बुद्ध प्रतिमा के भी दर्शन किए। यह प्रतिमा बोध गया की सहज धार्मिकता का प्रतीक बन गई है। इस अवसर पर, श्रीमती महाजन ने कहा कि उन्हें अत्यंत आनंद की अनुुभूति हुई और भगवान बुद्ध की पवित्र भूमि के आकर्षण ने उन्हें सम्मोहित कर लिया। यह भूमि पूरे विश्व में शांति का केन्द्र है। इसके पश्चात श्रीमति महाजन राजगीर पहुंची। जहां उन्होंने लब्ध प्रतिष्ठ अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केन्द्र (आरआईसीसी) को देखा। यह बिहार में सम्मेलन संबंधी कार्यकलापों को सुविधाजनक बनााने के लिए किया गया प्रथम संस्थागत प्रयास रहा है। श्रीमती महाजन ने सम्मेलन केन्द्र की वास्तुकला और सुविधाओं की सराहना की। सम्मेलन के पश्चात दौरे के अंतिम पड़ाव में श्रीमती महाजन नालंदा पहुंची। उन्होंने नालंदा विश्वविद्यालय का दैरा किया। नालंदा विश्वविद्यालय के पहले विश्वविद्यालयों में से एक है। इसकी स्थापना 5 वीं सदी ईसा पूर्व में हुयी थी। ऐसा विश्वास है कि अपने जीवन काल में बुद्ध यहां आए थे। नालंदा के विश्व प्रसिद्ध सांस्कृतिक स्थल को देखने के बाद श्रीमती महाजन ने कहा हमें अपने गौरवशाली इतिहास पर गर्व है। इसके साथ ही हमें यह भी विचार करना चाहिए कि हम अपनी सांस्कृतिक उत्कृष्टता को क्यो नहीं बनाए रख पाए। अब समय आ गया है कि हम अपने समृद्ध अतीत का पुनर्निमाण करें और जीवंतता प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.