धर्मेन्द्र प्रधान ने सऊदी अरब के ऊर्जा, उद्योग तथा खनिज संसाधन मंत्री से भेंट की

देश-विदेश
दिल्ली। केन्द्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास व उद्यमिता मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने आज यहाँ सऊदी के ऊर्जा, उद्योग और खनिज संसाधन मंत्री तथा सऊदी अरमको के चेयरमैन माननीय खालिद ए अल-फलीह से भेंट की। मंत्री फलीह 22 से 26 जनवरी, 2018 तक भारत की यात्रा पर हैं।

यह बैठक दोनों देशों के बीच हाइड्रोकार्बन क्षेत्र में बढ़ते सहयोग के क्रम में आयोजित की गयी थी। दोनों मंत्रियों के बीच पिछले एक वर्ष के दौरान दावोस, बैंकॉक, विएना और हॉस्टन में चार मुलाकातें हुई हैं। सऊदी अरब दुनिया का सबसे बड़ा तेल उत्पादक देश है। भारत का सऊदी अरब से संबंध महत्वपूर्ण है। सऊदी अरब भारत के सबसे बड़े ऊर्जा आपूर्तिकर्ताओं में एक है। कच्चे तेल औऱ एलपीजी क्षेत्र में सऊदी अरब दूसरा सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता है। 2016-17 में भारत के कुल 214 एमएमटी कच्चे तेल के निर्यात में सऊदी अरब का हिस्सा 39.5 एमएमटी था। हमारे कुल आयात का यह 18.5 प्रतिशत है।

बैठक के दौरान श्री प्रधान ने भारत में निवेश के विभिन्न अवसरों का ब्यौरा दिया। उन्होंने भारत के रणनीतिक पेट्रोलियम रिजर्व (एसपीआर) कार्यक्रम में सऊदी अरब को सहभागिता का आमंत्रण दिया। सऊदी पक्ष ने अपने देश में भारतीय कंपनियों के लिए निवेश के अवसरों का ब्यौरा दिया। दोनों ही पक्षों ने एक निश्चित अवधि में ठोस निवेश प्रस्तावों के निर्माण करने के साथ अपनी चर्चा समाप्त की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *