कारोबारी को गोली लगने की घटना में स्थिती संदेहास्पद

समाचार

भागलपुर। जमीन कारोबारी को गोली मारने की घटना में 24 घंटे बाद स्थिति संदेहास्पद बनी हुई है। गोली लगने से घायल देवाशीष के परिजन जहां अपने बयान पर कायम हैं, वहीं पुलिस ने अन्य बिंदुओं पर भी जांच शुरू कर दी है। मायागंज में इलाजरत देवाशीष को डॉक्टरों ने खतरे से बाहर बताया है।देवाशीष अपने परिवार के साथ जिस घर में रहता है, उसका हाता काफी बड़ा है। देवाशीष के चाचा निर्मल अग्रवाल का कहना है कि वह बाइक को बाहर ही छोड़कर छोटे गेट से अंदर आया और बड़े गेट को अंदर से खोलने का प्रयास ही कर रहा था कि किसी ने उस पर गोली चला दी। गोली लगने के बाद देवाशीष घर की तरफ भागने लगा, इस वजह से वह हमलावर को देख नहीं पाया। स्थानीय लोगों के मुताबिक, देवाशीष के पास जमीन की खरीद-बिक्री से संबधित कुछ लोगों का उनके पास बकाया था। इसे लेकर वे लोग अक्सर देवाशीष के घर का चक्कर काटते रहते थे। प्रेम नगर के एक व्यक्ति का देवाशीष के पास बड़ी रकम बकाया है। बकाया पैसे की मांग को लेकर वह कई बार देवाशीष के घर आता रहता था। हालांकि परिजन इस तरह की बातों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। उनका कहना है कि देवाशीष प्लॉटिंग के काम में नया था। थोड़ा-बहुत बकाया होना आम बात है। सबौर पुलिस ने घटनास्थल की सघन जांचउधर, सबौर पुलिस ने देवाशीष के घर के पास से खाली खोखा बरामद किया है। हमलावर की खोज में पुलिस ने बैंक व एक अन्य जगह लगे सीसीटीवी की फुटेज को भी खंगाला पर उन्हें हमलावर से संबंधित कोई भी सुराग नहीं मिल पाया। हालांकि पुलिस कई अन्य बिन्दुओं पर जांच करने में जुटी है। सबौर थानाध्यक्ष राजीव कुमार ने बताया कि मामले में कुछ पेचिदगी है। जांच की जा रही है। जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.