साहित्य-प्रहरी के तत्वावधान में साहित्यिक गोष्ठी मुंगेर में संम्पन

साहित्य

मुंगेर। साहित्य-प्रहरी के तत्वावधान में संध्या 5 बजे से दलहट्टा मुंगेर स्थित अर्चना विवाह भवन के प्रांगण में “जानकीदेवी झा स्मृति सम्मान समारोह ” का भव्य आयोजन हुआ ।


कार्यक्रम की अध्यक्षता जनार्दन झा जगप्रिय ने की और संचालन गीतकार शिवनंदन सलिल और समकालीन कविता के सशक्त कवि कुमार विजय गुप्त ने संयुक्त रुप से किया ।
इस समारोह में हिन्दी और अंगिका के ख्याति प्राप्त कवि विद्यावाचस्पति आमोद कुमार मिश्र को अंगवस्त्रम् ,प्रशस्ति-पत्र एवं पुष्पम्–पत्रम समर्पित कर सम्मानित किया गया ।
समारोह के अगले चरण में कवि यदुनंदन झा द्विज रचित ,सद्द: प्रकाशित खंडकाव्य का लोकार्पण उपविकास आयुक्त रामेश्वर पांडेय के कर कमलों से हुआ । अनुमंडल पदाधिकारी डा•कुन्दन कुमार ने अपनी गरिमामयी उपस्थिति प्रदान की ।
कार्यक्रम में डा• शब्बीर हसन, डा•मृदुला झा एवं शिवनंदन सलिल ने “गिलहरी खंडकाव्य ” पर अपने बहुमुल्य विचार रखे। इन वक्ताओं ने घरेलू जीव लघुकाय गिलहरी को रामकथा के संदर्भ में विराट पात्र के रूप मे चित्रित करने के लिये यदुनंदन झा द्विज को धन्यवाद दिया और वर्तमान पर्यावरण संकट और वन्यजीव विलोपन समस्या के दौर में गिलहरी को देवता के रुप में उपस्थित करने को युग की पुकार बताया। साथ ही इस संक्रमण युग मे भारतीय संस्कृति की रक्षार्थ आमजन से अपनी शक्ति भर योगदान (गिलहरी- प्रयास) का आह्वान किया।
कार्यक्रम के अंतिम चरण में एक मनोरम कविगोष्ठी हुई जिसमें आमोद मिश्र,विजेता मुग्दलपुरी,शिवनंदन सलिल, कुमार विजय गुप्त, गुरुदयाल त्रिविक्रम, एस•बी• भारती, विकास, सुबोध छवि, अशोक शर्मा, यदुनंदन झा द्विज, मृदुला झा, जनार्दन झा जगप्रिय, कंचनमाला आदि नें अपनी-अपनी रचनायें पढ़ी ।
कार्यक्रम को सफल बनाने में समाजसेवी प्रकाशजी,डा•प्रो•जयप्रकाश नारायण , नीरज कौशिक,आशुतोष, राजीव , नीरज आदि की महत्वपुर्ण भूमिका रही ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *