नसीब वालों को अल्लाह के घर मिलता है हाजिरी का मौकाः हसन

समाचार

कहा बरकत और अजमत वाली रात को कहते हैं शब-ए-बारात, नशा बुराई का है मूल जड़, नशा सेवन से करें तौबा,तभी अल्लाह करेंगे दुआ कबूल

खानकाह-ए-पीर दमड़िया के नायब सज्जाद नशीं सैयद शाह फकरे आलम हसन

 

भागलपुर। मुकद्दस,बरकत और अजमत वाली रात को ही शब-ए-बारात कही जाती है,लेकिन कुछ बदनशीब ऐसे भी होते हैं जिन्हें इस मुबारक रात मैं भी माफी-बक्शीस नहीं मिलती। ऐसे लोगों को अपने उन कामों से फौरन परहेज कर तौबा कर लेनी चाहिए, जिसमें बुराई है जैसे शराब पीना या किसी तरह की नशे का सेवन करना, रिश्ते-नातों को अलग कर उनमें फूट डालने की हर संभव कोशिश करना, झुठ-फरेबी कर बदजुवानी करना, अपने माँ-बाप की बात न मानकर उसे कष्ट देना आदि।
उक्त बातें खानकाह-ए-पीर दमड़िया के नायब सज्जादनशीं साहिबे फकरे आलम हसन ने एक विज्ञप्ति जारी कर कही। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को चाहिए कि इस तरह की हर बुराई वाले कामों से तौबा कर खुद को पाक-साफ रखें, क्यों कि अल्लाह ताला ऐसे हर शख्स से नफरत करते हैं जो इस तरह के बुरे कामों के आदि हैं।उन्होंने बताया कि मंगलवार को शब-ए-बारात है और यह वह मुबारक रात है कि जो भी शख्स इस मुबारक रात को अपनी बुराई से तौबा कर अपने गुनाहों की माफी माँग लेता है, अल्लाह-ताला उसके सारे गुनाह माफ कर देते हैं।उन्होंने इस रात को बुराई से तौबा करने की संकल्प लेने की नशीहत देते हुए कहा कि नशा बुराई की मूल जड़ है।उन्होंने ईमानवालों से अपील किया है कि शब-ए-बारात की रात जहाँ तक हो सके, अल्लाह की इबादत में गुजारें और अपने मूल्क भारत खासकर अपने राज्य, समाज और घर आदि की तरक्की में अमन-चैन, शांति-सदभाव और भाईचारगी की दुआ करें। देश- राज्य और समाज की खुशहाली में ही अपनी खुशी समाहित है। इसके बिना हम कभी खुशहाल नहीं हो सकते। उन्होंने बताया कि वे अपने मुल्क भारत खासकर शहर-गाँव और समाज की अमन-चैन, शांति-सदभाव, भाईचारे की सलामती और खुशहाली के लिए अल्लाह के घर काबा शरीफ मक्का आए हुए हैं और यहीं से पूरे देशवासियों को इस मुबारक रात शब-ए-बारात की मुबारक पेश कर अपील करते हैं सच्चे मन से इस मुबारक रात को अल्लाह की इबादत में समर्पण कर दें। उन्होंने कहा कि नसीब वालों को अल्लाह अपने घर हाजिरी का मौका देते हैं और वे दुआ करते हैं कि सच्ची मन्नतें एवं आरजू रखने वालों को इस मुबारक मक्का शरीफ में हाजिरी देने का मौका मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *