राज्यपाल ने ‘राजभवन संवाद’ को लोकार्पित किया

समाचार

पटना। राजभवन की गतिविधियों, इसकी ऐतिहासिक,सांस्कृतिक विरासतों, बिहार प्रदेश एवं विश्वविद्यालयों की उपलब्धियों आदि को संयोजित करने तथा इनसे सबको अवगत कराने की दृष्टि से राजभवन पत्रिका प्रकाशित करने का निर्णय एक नई सार्थक पहल है। उक्त उद्गार राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राजभवन बिहार की पत्रिका ‘राजभवन संवाद’ के प्रवेशांक को राजभवन सभा-कक्ष में लोकार्पित करते हुए व्यक्त किये।

राज्यपाल श्री मलिक ने कहा कि राजभवन में होनेवाली जैविक खेती, सोलर प्रकाश व्यवस्था, यहाँ की ऐतिहासिक विरासतों आदि से अवगत कराने के साथ-साथ, विश्वविद्यालय की सांस्कृतिक, शैक्षिक एवं खेलकूद आदि गतिविधियों, विश्वविद्यालयीय एवं प्रदेश की विभिन्न उत्कृष्ट प्रतिभाओं, राज्य की ऐतिहासिक सांस्कृतिक विरासतों, पर्यटकीय स्थलों आदि से जुड़ी बातें भी इस पत्रिका में प्रकाशित की जाएँगी। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता एवं बौद्धिक जगत से जुड़े विशेषज्ञों के सुझावों के आलोक में भी पत्रिका की विषय-वस्तु में निरंतर सुधार एवं परिमार्जन होता रहेगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह ने कहा कि राज्यपाल ने राजभवन को लोकोन्मुखी बनाने के उद्देश्य से यहाँ की गतिविधियों से आम जन-जीवन को जोड़ने का हरसंभव प्रयास करने को कहा है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की गतिविधियों, राजभवन के नवाचार से जुड़े कार्यक्रमों, विश्वविद्यालय से जुड़े विकासपरक कार्यक्रमों, राजभवन एवं प्रदेश की विरासतों, ऐतिहासिक सांस्कृतिक स्थलों आदि के बारे में पत्रिका में बराबर रचनाएँ प्रकाशित होंगी। उन्होंने कहा कि उनके के विचारों और महत्त्वपूर्ण संदेशों को भी इसमें प्रकाशित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल सम्मेलन के निर्णय के आलोक में राज्यपाल के मार्ग-दर्शन में राजभवन, बिहार से संबंधित ‘कॉफी टेबुल बुक का भी प्रकाशन हुआ है। उन्होंने कहा कि बात चाहे पत्रिका-प्रकाशन की हो, या जैविक खेती या सोलर प्रकाश-व्यवस्था की (हर निर्धारित एजेण्डे पर राजभवन), बिहार ने महामहिम राज्यपाल के मार्ग-दर्शन में समुचित प्रयत्न किये हैं।

राजभवन की मासिक पत्रिका (राजभवन संवाद) के प्रवेशांक के प्रधान संपादक प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह हैं, जबकि संपादक-मंडल में संजय कुमार एवं सुनील कुमार पाठक तथा कार्यकारी संपादक के रूप में विनोद कुमार ने दायित्व निर्वहन किया है। धन्यवाद ज्ञापन संयुक्त सचिव अनिल कुमार ने किया। इस अवसर पर राज्यपाल सचिवालय के सभी वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.