क्षमतानुसार वाहनों को विक्रमशिला सेतु पर चलने की अनुमति दे प्रशासन

समाचार

डीएम से मिले ट्रक मालिक संघ के सदस्य

Smt Rinku Ranjan

भागलपुर/संवाददाता। विक्रम शिला सेतु से 6 चक्का से अधिक एवं 20 टन के वजन की सीमा को समाप्त करते हुए ट्रकों के परिचालन की मांग ट्रक मालिकों ने की है। जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आये हुए ट्रक मालिकों ने जिला पदाधिकारी से मिल कर ट्रकों पर लगी रोक को हटाने की मांग की है। संघ के सचिव सफीर आलम ने बताया कि जिले में तीन हजार से अधिक ट्रकों का परिचालन बंद होने से 10 हजार से अधिक लोगों के साथ रोजी-रोटी की समस्या खड़ी हो गयी है। जिले में अब 6चक्का वाहन नहीं के बराबर है। ट्रकों का व्यवसाय मुख्य रूप् से उत्तरी बिहार से ही होता है। ऐसे में ट्रक नहीं चलेंगे तो परेशानी इस पेशे से जुड़े तमाम लोगों के साथ होगी। इस मौके पर मुकेश यादव ने बताया कि पिछले वर्ष पुल की मरम्मति पर 14 करोड़ रूप्ये खर्च किये गये तो पुल कब कमजोर हो गया। हमलोग जिला प्रशासन से ट्रकों पर लगी रोक को शीघ्र हटाने की मांग कर रहे हैं। वाहन मालिकों का कहना था कि 10, 12, 14 चक्का वाले वाहन अगर पुल पर नहीं चलेंगे तो गाड़ी खड़ी रहने पर परिवहन विभाग को दिया गया टैक्स विभाग वापस कर दे। ट्रक मालिकों का कहना था कि वे अगर इंश्योरेंस की किश्त समय पर जमा नहीं करेंगे तो कंपनी उनकी गाड़ियों को जब्त कर लेगी। ट्रक मालिकों नें पुल की भारवाहक क्षमता की जांच किसी एजेंसी से कराने की मांग भी की ताकि इामें जो संशय है खत्म हो सके। इस अवसर पर संघ के सदस्य चांद आलम, शिवबालक तिवारी, मुन्ना सिंह, मो. सिद्दिक, नीलेश झा, बबलू मंडल, मुन्ना मंडल, नरेश पंडित सहित सैकड़ों ट्रक मालिक मौजूद थे।