भागलपुर स्टेशन पर तिरंगे का अपमान, हंगामा

समाचार

भागलपुर। भागलपुर रेलवे स्टेशन पर सोमवार की देर शाम सूर्यास्त होने के बाद भी शहर का सबसे ऊंचा तिरंगा फहरता रहा।

रात में शान से लहराता हमारा राष्ट्रीय ध्वज
सभी छाया “वरिष्ठ छायाकार” पारस कुंज

तिरंगा फहराने के बाद सब लोग चले गए, लेकिन झंडा फहरता रहा। इसको लेकर स्थानीय लोगों व यात्रियों ने स्टेशन पर हंगामा कर दिया। उनका कहना था कि नियम के अनुसार तिरंगा सूर्यास्त के बाद नहीं फहराना चाहिए। सरकारी इमारतों में भी तिरंगा शाम को सम्मान के साथ उतार लिया जाता है और फिर सुबह सम्मान के साथ फहराया जाता है। स्थानीय लोगों ने जब देर शाम स्टेशन परिसर में तिरंगा फहरते देखा, हंगामा शुरू हो गया। उनके साथ यात्री भी शामिल हो गए। लोगों का कहना था कि तिरंगे के प्रति रेलवे प्रशासन की लापरवाही असहनीय है। बाद में मीडियाकर्मियों के फोन आने लगे तो जीआरपी एवं आरपीएफ ने मौके पर पहुंच कर तिरंगा सम्मान के साथ उतरवाया और स्थिति को नियंत्रण में किया। उल्लेखनीय है कि भागलपुर रेलवे स्टेशन पर पूरे शहर में दिखने वाला तिरंगा फहराने की योजना के तहत इसे लगाया गया है। बताया गया कि अभी इसका ट्रायल चल रहा है।