ट्रैक्टर पलटने से मौके पर चार की मौत, 4 रेफर, 30 घायल

राष्ट्रीय समाचार

शेखपुरा में भीषण सड़क हादसा

शेखपुरा/संवाददाता। बिहार के शेखपुरा जिला के कोरमा थाना क्षेत्रर्न्तगत कुरौनी मोड़ के समीप सोमवार की अहले सुबह 6ः00 बजे अनियंत्रित होकर एक ट्रैक्टर के पलट जाने से चार मजदूर की मौके पर मौत हो गई। करीब तीन दर्जन मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए। मृतकों और घायलों में महिला और पुरुष मजदूर शामिल हैं। थाना के सूचना मिलने पर सभी घायलों को शेखपुरा सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। घटना की सूचना मिलने पर शेखपुरा डीएम इनायत खान, एसपी दयाशंकर, एसडीपीओ सत्येंद्र कुमार सिंह, एसडीओ राकेश कुमार समेत कई थानों की पुलिस सदर अस्पताल पहुंचकर घायलों मिला। मौके पर ग्रामीणों ने बताया कि सभी मजदूर एक ट्रैक्टर पर सवार होकर घाटकुसुम्भा प्रखंड स्थित सहरा टाल मसूर की फसल की कटाई के लिए ट्रैक्टर पर सवार होकर जा रहा था। तभी अनियंत्रित होकर ट्रैक्टर पलट गई और चार मजदूर की मौके पर मौत हो गई। सभी घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं अंचलाधिकारी रवि शंकर पांडे ने बताया कि कटारी गांव से 40 मजदूर मसूर फसल की कटनी के लिए टाल जा रहे थे। घायलों को इलाज के लिए प्रति मजदूर 4300 रु की दर से सहायता राशि दी गई। मृतकों के शव को पोस्टमार्टम कराकर उनके परिजन को सौंप दिया गया। अंचलाधिकारी ने बताया कि मृतकों में पार्वती देवी (48 वर्ष) पति- शिव शंकर पंडित, नुनू वती देवी (60 वर्ष ) पति-प्रसादी मांझी, बबलू राम (35 वर्ष) पिता- रामचंद्र राम, लालपरी देवी (48 वर्ष) पति -कर्जन मांझी शामिल है। साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार सरकार के आपदा के नियम के अनुसार पीड़ित परिवारों को चार-चार लाख रुपया दिया जाएगा। वहीं प्रखंड विकास पदाधिकारी मंजूल मनोहर मधुप ने बताया की मुख्यमंत्री पारिवारिक लाभ योजना के तहत सभी मृतक मजदूरों को 20 -20 हजार रुपया और कबीर अंत्योष्टि योजना के तहत 3-3 हजार की सहायतार्थ राशि दी गई।

 

घायलों में सुनीता देवी 20 वर्ष, भाषों देवी 50, पप्पू कुमार 12, गुरुचरण 16, फेकू मांझी 35, सुमा देवी 40, चिंता देवी 50, कैलू मांझी 16, मिथिलेश कुमार 15, जीतन मांझी 34, फन्नी कुमारी 12, करिजन मांझी 55, चंदन मांझी 18, राजो मांझी 55, वविता देवी 40, मौला देवी 50, दारो मांझी 55, सूरज कुमार 16, विक्रम कुमार 12, धनपत 14, रवि कुमार मांझी 14, गुलेशर मांझी 50, रेखा देवी, ललिता देवी सहित 30 घायल लोगों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 

अस्पताल में इलाज के लिए दर्द निवारक इंजेक्शन के लिए भी मरीज कराहते दिखे, वहीं बेड के अभाव में मरीजों को जमीन पर लिटा कर इलाज किया गया। सिविल सर्जन डॉ मृगेन्द्र प्रसाद सिंह ने बताया कि घायलों की स्थिति ठीक है। आवश्यकता पड़ने पर पटना रेफर किया जा सकता है। इसके लिए एम्बुलेंस की व्यवस्था की गया है एवं सभी मृतक को पोस्टमार्टम के लिये भेजा जा रहा है। जिलाधिकारी इनायत खां एवं अनुमंडलाधिकारी राकेश कुमार सहित कई अधिकारी अस्पताल पहुंच कर हालात का जायजा लिया और समुचित इलाज के लिये दिये निर्देश।