कश्ती (कविता)

खोज कर…. हुनर को अपने… बदल डालो… दुनिया का चलन…. के चुनौतियों को… देख कर घबराने से… कुछ हांसिल नही होता… उतार कर देखो…. कश्ती को अपनी… समंदर के गहरे पानी में…. के साहिलों पर बैठकर…. गहराई मापने से…. कुछ हांसिल नहीं होता…. भीगने दो.. कश्ती को अपनी… होंसलों की बारिश में… के तूफानों से […]

Continue Reading

शिक्षाविद् एवं अप्रतिम वाग्मी जनार्दन प्रसाद झा “द्विज”

आज 5 मई है, अर्थात् छायायुगीन कवि-कहानीकार-आलोचक-चरित्ररेखाकार-शिक्षाविद् एवं अप्रतिम वाग्मी जनार्दन प्रसाद झा “द्विज” की पुण्यतिथि। आज की ही तारीख शाम 7:00 बजे उन्होंने मात्र 60 की आयु में अपनी इहलीला समाप्त की थी। तब वे पूर्णिया महाविद्यालय के प्राचार्य हुआ करते थे। उन्होंने वहीं शतवर्षीय जीर्ण-शीर्ण प्राचार्य-निवास में अंतिम साँसे ली थीं। मधुमेह के […]

Continue Reading

साहित्य-प्रहरी के तत्वावधान में साहित्यिक गोष्ठी मुंगेर में संम्पन

मुंगेर। साहित्य-प्रहरी के तत्वावधान में संध्या 5 बजे से दलहट्टा मुंगेर स्थित अर्चना विवाह भवन के प्रांगण में “जानकीदेवी झा स्मृति सम्मान समारोह ” का भव्य आयोजन हुआ । कार्यक्रम की अध्यक्षता जनार्दन झा जगप्रिय ने की और संचालन गीतकार शिवनंदन सलिल और समकालीन कविता के सशक्त कवि कुमार विजय गुप्त ने संयुक्त रुप से […]

Continue Reading

“प्रतिभाओं को मत बाँटो आरक्षण की तलवार से….”

काव्य-यात्रा की वासंती काब्य धारा सह कवि सम्मेलन समारोह सम्पन्न भागलपुर। करता हूँ अनुरोध आज मैं भारत की सरकार से, प्रतिभाओं को मत काटो आरक्षण की तलवार से। जातिवाद की नहीं समस्या मात्र गरीबीवाद है,जो सवर्ण हैं पर गरीब हैं,उनका क्या अपराध है। की पंक्तियों को पेश करते हुए जब अंग उत्थान आन्दोलन समिति,बिहार-झारखंड के […]

Continue Reading

दिल से आज सुनाना है

अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी संस्थान (एशिया-यूरोप) के फेसबुक वॉल से इस अंधी बहरी दुनिया को  दिल से आज सुनाना है | हालात बदल गये है इसके, ये इसको बतलाना है | दिल से आज सुनाना है || ऊँचा सुनती है ये दुनिया, अपनी आवाज उठाना है | दिल से आज सुनाना है || इतने धर्मो के होते हुये, […]

Continue Reading

राष्ट्रीय अस्मिता का बोध कराएं साहित्यकार

साहित्यकार महज कविता लेखन तक सीमित न रहें, साहित्य के जरिए देशवासियों को राष्ट्रीय अस्मिता का भी बोध कराएं। ये समय की मांग भी है। आगरा। साहित्यकार महज कविता लेखन तक सीमित न रहें, साहित्य के जरिए देशवासियों को राष्ट्रीय अस्मिता का भी बोध कराएं। ये समय की मांग भी है। क्योंकि राष्ट्रीय अस्मिता का […]

Continue Reading

स्थापना दिवस सह कवि सम्मेलन का हुआ आयोजन

गौतम भागलपुर। स्थानीय मोहदीनगर के कागजी टोला लेन स्थित विषहरी स्थान परिसर में मानव कल्याण समिति ने अपना तीसरा स्थापना दिवस सह वार्षिकोत्सव समारोह का आयोजन आज तीन चरणों में सम्पन्न किया। पहले चरण में सन्तमत सत्संग, दूसरे चरण में समिति का लेखा-जोखा व प्रतिवेदन प्रस्तुती सह विचार गोष्ठी और तीसरे चरण में सर्वभाषा कवि […]

Continue Reading