फौजी किसान पार्टी का गठन, बिहार की राजनीति को देंगे सकारात्मक विकल्प

फौजी किसान पार्टी का गठन, बिहार की राजनीति को देंगे सकारात्मक विकल्प

Spread the love

सर्वेश

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव से पूर्व आज प्रदेश की राजनीति को सकारात्मक विकल्प देने के उद्देश्य से एक नयी पार्टी की उद्घोषणा संवाददाता सम्मेलन में समाजसेवी (गंगापुत्र) विकास चंद्र उर्फ गुड्डू बाबा के संरक्षण में की गई। इस नयी पार्टी का नाम ‘फौजी किसान पार्टी’ रखा गया, जिसका मुख्य उद्देश्य मुट्ठी भर लोगों के कब्जे से लोकतंत्र को बचाकर आम युवाओं तक पहुंचाना बताया गया। इस सम्बन्ध में फौजी किसान पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक विकास चंद्र उर्फ गुड्डू बाबा ने कहा कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में कम से कम 200 युवाओं को चुनाव में उतारकर ‘जागा बिहार – नया बिहार’ के सपने को साकार करना भी हमारी पार्टी का मुख्य उद्देश्य है।

गुड्डू बाबा ने कहा कि यह पार्टी वर्तमान दौर में सभी पार्टियों से अलग होगी। हम बिहार में बंद पड़े  तमाम उद्योग धंधों को चालू करवा कर और नए बड़े-बड़े एवं लघु उद्योग की स्थापना कर रोजगार की समस्या को दूर करना चाहते हैं। साथ ही बिहारी युवाओं को प्रदेश में रोजगार देकर पलायन को कम करना हमारा उद्देश्य है। हम प्रदेश की शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था को उन्नत बनाने के लिए कृत संकल्पित हैं। इसकी व्यवसायीकरण पर नियंत्रण कर सरकारी संस्थानों को सक्षम बनाना ही हमारी प्राथमिकता होगी।

उन्होंने आगे कहा कि बिहार में दवा माफियाओं के साम्राज्य को मिटाना, गरीबों का राशन लूटने वालों को के खिलाफ स्पेशल टास्क फोर्स और स्पेशल कोर्ट का गठन, बिहार में विधि व्यवस्था को दुरुस्त बनाकर उद्योगपतियों को बिहार में आमंत्रण, राज्य में छेड़खानी – बलात्कार जैसे घृणित कार्यों को अंजाम देने वाले अपराधियों के खिलाफ स्पेशल टास्क फोर्स व स्पेशल कोर्ट का गठन, मजदूरों का सम्मान बढ़ाने के लिए 38 जिले से 38 मजदूरों को विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाना हमारी प्राथमिकताओं में से है।

उन्होंने बिहार में संविदा पर बहाली के खेल को खत्म कर आम लोगों को बंधुआ मजदूरी से मुक्ति दिलवाने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि राज्य में बंद पड़े राजकीय नलकूपों को चालू करवाकर और सिंचाई के अन्य साधनों को सफल बनाकर किसानों की स्थिति में सुधार करेंगे। राज्य के 86 गौशालाओं की लगभग 5 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त करवाकर जानवरों के अधिकारों की सुरक्षा और दूग्ध उत्पादन क्षेत्र में बिहार को विश्व स्तर पर सम्मान देंगे। सरकारी भूमि को भू माफियाओं से मुक्त कराकर एवं गरीबों के लिए आवास की व्यवस्था करवाना भी प्राथमिकताओं में है। छात्रों के उज्जवल भविष्य के लिए बिहार को उच्च शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा और तकनीकी शिक्षा का केंद्र बनाना चाहते हैं।

वहीं, फौजी किसान पार्टी के गठन के अवसर पर पार्टी के अध्यक्ष मुन्ना सिंह, रोशन सिंह राठौर, राकेश रंजन (सभी भूतपूर्व सैनिक) बाबा विवेक द्विवेदी, मनीष कश्यप, सुजीत रमन, गोविंद कुमार, रामा ठाकुर, लोरी दास, राधेश्याम यादव, विवेक विश्वास, मुन्ना बाबा, शशीकांत सिंह, श्रीमती हजारी देवी और निर्मला कुमारी सहित कई समर्थक उपस्थित थे।

admin

Related Posts

राज्यपाल ने संतोष की शहादत को किया नमन

Comments Off on राज्यपाल ने संतोष की शहादत को किया नमन

leave a comment

Create Account



Log In Your Account